Monday, September 29, 2008

Kabhi Kabhi : Old vs New

Since few days the song " Kabhi Kabhi mere dil mein khayal aata hai " ( कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है...) was playing in my head and finally I got some time to log on to youtube and listen to the song.
what an awesome song, one of my favourites.
And when I searched for Kabhi Kabhi I found out the recent Kabh Kabhi Aditi Zindagi mein...(Jaane Tu Ya jaane Na) and what a contrasting difference. Both are good but nothing as compared to the original one.
Another shocker was Nelly Furtardo singing Kabhi Kabhi, but a fabulous effort.I would've loved had she sung the whole song.
The Bally Sagoo remix was also good, but messed up. I've embedded a few of them below.

कभी कभी मेरे दिल मैं ख्याल आता हैं
की ज़िन्दगी तेरी जुल्फों की नर्म छाओं मैं गुजरने पति
तो शादाब हो भी सकती थी.

यह रंज-ओ-ग़म की सियाही जो दिल पे छाई हैं
तेरी नज़र की शुओं मैं खो भी सकती थी.

मगर यह हो न सका और अब ये आलम हैं
की तू नहीं, तेरा ग़म तेरी जुस्तजू भी नहीं.

गुज़र रही हैं कुछ इस तरह ज़िन्दगी जैसे,
इससे किसी के सहारे की आरजू भी नहीं.

न कोई राह, न मंजिल, न रौशनी का सुराग
भटक रहीं है अंधेरों मैं ज़िन्दगी मेरी.

इन्ही अंधेरों मैं रह जाऊँगा कभी खो कर
मैं जनता हूँ मेरी हम-नफस, मगर यूंही
कभी कभी मेरे दिल मैं ख्याल आता है.

The Original Classic






The remixed mess





The Shocker